कृषि

किसानों की बल्ले-बल्ले: कृषि यंत्रों पर इतने प्रतिशत तक की सब्सिडी, जानिए कैसे करे आवेदन

Rakesh Gusaiana
1 Jun 2022 10:41 AM GMT
किसानों की बल्ले-बल्ले: कृषि यंत्रों पर इतने प्रतिशत तक की सब्सिडी, जानिए कैसे करे आवेदन
x
Agricultural Machinery: कृषि प्रधान देश होने के बावजूद देश के अधिकतर किसानों के पास खेती की मशीनों की पहुंच नहीं है. इन्हीं सब स्थिति से निपटने के लिए मध्य प्रदेश सरकार किसानों को 40 से 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर कृषि यंत्र दे रही है.

Subsidy On Agricultural Machinery: खरीफ की फसलों की बुवाई नजदीक आ चुकी है. खेतों की जुताई और निड़ाई की शुरुआत भी हो चुकी है. ऐसे में किसानों के बीच खेती की मशीनों की मांग अचानक से बढ़ गई है. कई गांवों में किसानों ने किराए पर इन मशीनों को मंगा लिया गया है. हालांकि इससे किसानों की लागत भी बढ़ने का अंदेशा है. इसी को देखते हुए कई राज्य सरकारों ने इन यंत्रों की खरीद पर अनुदान देने की घोषणा कर दी है.

सब्सिडी कैलकुलेटर के माध्यम से अनुदान प्रतिशत का फैसला

कृषि प्रधान देश होने के बावजूद देश के अधिकतर किसानों के पास खेती की मशीनों की पहुंच नहीं है. इन्हीं सब स्थिति से निपटने के लिए मध्य प्रदेश सरकार किसानों को 40 से 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर कृषि यंत्र दे रही है. किसानों को किन यंत्रों पर कितनी सब्सिडी दी जाएगी इसका अंतिम फैसला सब्सिडी कैलकुलेटर के माध्यम से किया जाएगा. इन यंत्रों के लिए किसान मध्य प्रदेश सरकार के कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय पोर्टल पर जाकर 6 जून 2022 तक आवेदन कर सकते हैं.

इन मशीनों पर सब्सिडी

मध्य प्रदेश सरकार फिलहाल किसानों को रोटावेटर, रिवर्सिबल प्लाऊ, सीड ड्रिल, सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल , स्प्रिंकलर, ड्रिप सिस्टम, रेनगन, डीजल/विधुत पंप, रीपर कम बाईन्डर, स्वचलित रीपर, राईस ट्रांस प्लान्टर जैसे मशीनों पर पर सब्सिडी देने का फैसला किया है. इसके अलावा राज्य के किसान बिना डीडी दिए बिना इन यंत्रों के लिए आवेदन कर सकेंगे. इस बार सरकार ने किसानों को सब्सिडी के रूप में भुगतान करने के लिए ई-रूपी व्हाउचर्स का उपयोग करने का फैसला लिया है.

लॉटरी सूची के आधार पर सब्सिडी

कृषि यंत्रों के लिए किसानों का चयन लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा. लॉटरी निकलने के बाद किसान अपना नाम सूची में देख सकते हैं. लॉटरी में चयनित किसानों को ही कृषि यंत्रों पर सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाएगा. इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए किसान मध्य प्रदेश सरकार के कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय पेज को भी विजिट कर सकते हैं.

Next Story