कृषि

खेत में वाटर टैंक बनवाने पर 85 प्रतिशत सब्सिडी देगी सरकार, इन मानदंडों पर तय होगी सब्सिडी

Mukesh Gusaiana
23 May 2022 4:37 AM GMT
खेत में वाटर टैंक बनवाने पर 85 प्रतिशत सब्सिडी देगी सरकार, इन मानदंडों पर तय होगी सब्सिडी
x
इस योजना को ऑन फार्म तालाब नीति का नाम दिया गया है, इस योजना का लाभ पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर मिलेगा। सामुदायिक योजना के तहत 85 प्रतिशत तथा व्यक्तिगत पर 70 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

प्रदेश सरकार द्वारा हर खेत तक पानी पहुंचाने के उद्देश्य के चलते मी.काडा द्वारा सूक्ष्म सिंचाई व फव्वारा पद्धति के लिए खेतों में सामुदायिक व व्यक्तिगत स्तर पर जल संग्रह के लिए टैंकों का निर्माण करवाया जाएगा। इस योजना को ऑन फार्म तालाब नीति का नाम दिया गया है, इस योजना का लाभ पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर मिलेगा। सामुदायिक योजना के तहत 85 प्रतिशत तथा व्यक्तिगत पर 70 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

उल्लेखनीय कि आमतौर पर नहर से दूर के क्षेत्र या रेतीली कृषि योग्य भूमि सिंचाई से वंचित रह जाती है। प्रत्येक खेत तक पानी पहुंचाने को लेकर सरकार ने ऑन फार्म तालाब नई योजना शुरु की है। इसके तहत खेतों में मी.काढा विभाग द्वारा टैंकों का निर्माण करवाया जाएगा, इसमें किसान व्यक्तिगत स्तर पर और सामुदायिक, दोनों स्तर पर निर्माण करवा सकते हैं।

व्यक्तिगत स्तर पर पांच से 50 एकड़ जमीन वाले किसान अपने खेत में पानी संग्रह के लिए टैंक के लिए आवेदन कर सकते हैं। सामुदायिक स्तर के लिए नहर से पानी निकलने वाली मोरी पर लगने वाली कुल खेती की जमीन का 30 प्रतिशत किसानों की सहमति होना जरूरी है।

इसके लिए किसानों को जमीन मुहैया करवानी होगी। यदि पंचायत की जमीन खेतों में है तो वहां पर पंचायत की सहमति से निर्माण करवाया जा सकता है। चार या इससे अधिक किसानों को सामुदायिक योजना का नाम दिया गया है। सामुदायिक योजना में विभाग स्वयं टैंक का निर्माण करवाएगा, जबकि व्यक्तिगत के लिए निर्माण खेत के मालिक द्वारा करवाया जाएगा, जिस पर 70 प्रतिशत सब्सिडी तीन चरणों में दी जाएगी, जिसमें पहली टैंक की खुदाई के समय, दूसरी टैंक के निर्माण होने पर तथा अंतिम सब्सिडी किश्त सूक्ष्म प्रणाली के माध्यम से खेत में सिंचाई होने पर दी जाएगी। ये तीनों सब्सिडी निर्माण कार्य खर्च पर अलग.अलग आधारित होंगी। सिंचाई के लिए सोलर सिस्टम लगाया जाएगा।

मापदंडों पर तय की जाएगी सब्सिडी

इस योजना में सामुदायिक पानी के तालाब, सूक्ष्म सिंचाई के तहत आने वाला क्षेत्र लाभान्वित होने वाले किसानों की संख्या, आवेदन की तिथि पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर दी जाएगी। निर्मित पानी के तालाब का कृषि और संबद्घ गतिविधियों के अलावा अन्य उपयोग नहीं होगा। हरेडा द्वारा सोलर पंप योजना लागू की गई है।

खेतों तक पानी पहुंचाने को लेकर सोलर सिस्टम लगाने के लिए मीकाडा द्वारा हरेडा की मदद की जाएगी। इसके योजना में मुख्य बिंदुओं में ऑफ ग्रिड क्षेत्रों में, जहां ग्रिड आपूर्ति उपलब्ध नहीं है। मौजूदा डीजल कृषि पंपों सिंचाई प्रणालियों के लिए किसानों की 10 एचपी तक क्षमता के स्टैंड अलोन सौर ऊर्जा पंपों को स्थापित करने में सहायता की जाएगी। किसानों समुदाय क्लस्टर आधारित सिंचाई प्रणाली की क्षमता 3 एचपी से 10 एचपी तक 75 प्रतिशत सब्सिडी पर सोलर वाटर पंपिंग सिस्टम प्रदान किया जाएगा।

Next Story