कृषि

किसानों को खाद और बीज के लिए प्रति एकड़ 8640 रूपए देगी सरकार, जानिये योजना

Rakesh Gusaiana
16 May 2022 11:50 AM GMT
किसानों को खाद और बीज के लिए प्रति एकड़ 8640 रूपए देगी सरकार, जानिये योजना
x
सरकार की तरह से किसानों हित में बेहद अच्छी खबर है. वर्तमान चल रहें साल से किसानों को प्रति एकड़ खाद-बीज (fertilizer seed) के लिए कर्ज की राशि में 2100 रूपए ज्यादा मिलेंगे. यानी की इस वर्ष किसानों को खेती करने के लिए टोटल 8640 रुपए मिलेंगे.

सरकार की तरह से किसानों हित में बेहद अच्छी खबर है. वर्तमान चल रहें साल से किसानों को प्रति एकड़ खाद-बीज (fertilizer seed) के लिए कर्ज की राशि में 2100 रूपए ज्यादा मिलेंगे. यानी की इस वर्ष किसानों को खेती करने के लिए टोटल 8640 रुपए मिलेंगे.

बात दें की सरकार हर साल खाद-बीज (fertilizer seed) के लिए किसानों के खातों में लगभग 7840 रूपए भेजती है. परंतु इस साल लोन राशि बढ़ा दी गई है. इस वर्ष किसानों को प्रति एकड़ खाद-बीज के लिए 8640 रुपए मिलेंगे.

जानकारी बता दें की जिला सहकारी बैंकों के माध्यम से हर साल किसानों को खेती करने के लिए कर्ज दिया जाता है. परंतु बैंक से किसानों को यह कर्ज 2 तरह से मिलता है. एक नगद राशि के तौर पर व दूसरा खाद-बीज के रूप में दिया जाता है.

बैंक कर्ज की राशि को फसल बेचने के दौरान सोसायटियों में काट ली जाती है. ऐसा करने से किसानों पर भी किसी तरह को कोई बोझ नहीं आता है. इसे किसानों को कर्ज चुकता हो जाता है व वहीं खेती करने के लिए भी किसानों को पैसे भी मिल जाते हैं.

सहकारी बैंकों की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले खरीफ सीजन (Kharif Season) में 60 हजार से अधिक किसानों को 2 अरब का कर्ज दिया गया था. इस साल भी किसानों की मदद के लिए ढाई अरब रुपए तक बांटने का लक्ष्य रखा गया है. परंतु अब तक देश में केवल 10 हजार किसानों को ही कर्ज की धन राशि प्राप्त हुई है.

इस प्रकार लें लोन

सरकार ने किसानों के लिए कई योजनाएं बनाई है. इन्हीं में से एक किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Kisan Credit Card Scheme) भी है. इस योजना के द्वारा किसानों की आर्थिक तौर पर मदद की जाती है.

अगर आप किसान है और खेती करने के लिए कर्ज की तलाश कर रहे हैं, तो सरकार की इस योजना के माध्यम से आप सरलता से खेती के लिए कर्ज प्राप्त कर सकते हैं.

लोन के लिए नजदीकी जिला सहकारी बैंक में संपर्क करना होगा. इसके अलावा आप अन्य राष्ट्रीयकृत निजी बैंकों (Nationalized private banks) के जरिए भी केसीसी लोन यानी खेती करने के लिए लोन प्राप्त कर सकते हैं. परंतु ध्यान रहे कि हर निजी बैंकों में कर्ज की राशि अलग-अलग होती है.

Next Story