कृषि

Kisan Credit Card: किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज किया जाएगा माफ? यहां चेक करें डिटेल्स

Rakesh Gusaiana
18 May 2022 3:48 PM GMT
Kisan Credit Card: किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज किया जाएगा माफ? यहां चेक करें डिटेल्स
x
Kisan Credit Card: किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज किया जाएगा माफ? यहां चेक करें डिटेल्स-Kisan Credit Card: Will interest be waived on Kisan Credit Card? Check details here

नई दिल्ली: अगर आपके पास भी ऐसा कोई मैसेज भेजा गया है जिसमें दावा किया जा रहा है क‍ि सरकार की तरफ से क‍िसान क्रेड‍िट कार्ड (Kisan Credit Card-KCC) की मदद से क‍िसानों को ब‍िना ब्‍याज लोन की सुविधा मिलना शुरु हो जाएगी तो यह खबर आपके ल‍िए काफी अहम है। ये अहम हो जाता है कि आप सावधान रहे। पीआईबी (PIB) की तरफ इसको लेकर आम लोगों तक सही जानकारी पहुंचाने का कार्य किया है।

3 लाख तक के लोन पर दिया जाएगा 7 प्रतिशत ब्याज

इस वायरल मैसेज का खुलासा करने के बाद खुद सरकार ने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट की मदद से PIB फैक्ट चेक (#PIBfactcheck) के जरिये ट्वीट साझा कर दिया है। ट्वीट में सरकार की तरफ से जानकारी मिली है कि क‍िसान क्रेडि‍ट कार्ड पर ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है।

जानकारी के मुताबिक किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) के तहत देखा जाए तो दिए जाने वाले 3 लाख तक के लोन पर 7% के ह‍िसाब से ब्याज लगता है. इसमें 3 प्रत‍िशत की छूट का भी प्रावधान मिलना शुरु हो गया है।

प‍िछले कुछ द‍िनों में तेजी से मैसेज हो रहा वायरल

PIB फैक्ट चेक की ओर से देखा जाए तो उस तस्वीर को भी शेयर क‍िया जा चुका है, ज‍िसमें 1 अप्रैल से KCC पर ब्याज दर शून्य होने का दावा कर दिया गया है। यह मैसेज प‍िछले कुछ द‍िनों में देखा जाए तो तेजी से वायरल (Viral Message) हो चुका है।

इसमें कटिंग के माध्‍यम से यह दावा हो रहा है क‍ि 1 अप्रैल 2022 से किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) पर 3 लाख तक की रकम पर किसी तरह का ब्याज नहीं लगने जा रहा है।

साइबर क्राइम के मामलों में की गई तेजी

पीआईबी ने इस पूरे मामले पर बात की जाए तो ट्वीट करके जानकारी दिया है कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है (Fake News). ऐसा सरकार की तरफ से कोई निर्णय नहीं लिया गया है।.

ट्वीट में जानकारी बताया गया है कि किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) पर 7 प्रतिशत का ब्याज किसानों को देनी जरुरत होती है। आपको बता दें द‍िन पर द‍िन बढ़ने जा रहे डिजिटाइजेशन (Digitalisation) के अलावा साइबर क्राइम के मामलों में भी तेजी होना शुरु हो गई है। लोगों को क‍िसी भी ठगी से बचाने को लेकर पीआईबी वायरल मैसेज का फैक्ट चेक किया गया है।

Next Story