कृषि

Mandi Report : क्या सरसों भाव होगा 10000 के पार, यहाँ देखें तेजी मंदी रिपोर्ट लाइव

Rakesh Gusaiana
2 May 2022 11:31 AM GMT
Mandi Report : क्या सरसों भाव होगा 10000 के पार, यहाँ देखें तेजी मंदी रिपोर्ट लाइव
x

किसान साथियो बीता हफ्ता किसानों के लिए काफी अच्छी खबरों को लेकर आया। लेकिन फसलों के भाव के हिसाब से काफी उतार चढ़ाव का रहा। सोमवार से लेकर रविवार शुरू के दो तीन दिन को छोड़कर सभी फ़सलों के भाव में अच्छी तेजी देखने को मिली।

ज्यादातर फसलों ने अपने टॉप भाव दिखाए। दोस्तों हमें पूरी उम्मीद है की इस रिपोर्ट को पढ़ने के बाद आप मुख्य फसलें गेहूं और सरसो की तेजी मंदी का सही अंदाजा लगा पाएंगे

सरसों की साप्ताहिक रिपोर्ट (weekly report)

इस हफ्ते सरसों के भाव में बड़ा उतार चढ़ाव देखने को मिला। शुरुआती मंदी के बाद सरसो में ख़ास किस्म की तेजी देखने को मिली। कारण था विदेशी बाजारों से अच्छी खबरों का आना। दोस्तो मंडी भाव टुडे ने शुरू से ही कहा है कि भारतीय बाजार विदेशी खबरों से बहुत प्रभावित होता है।

हमारी कोशिश रहती है कि हम आपको सही समय पर सही जानकारी दें ताकि आपको अपनी फसल का टोप भाव मिले। सरसों का सीजन अब लगभग समाप्त हो चुका है। हालांकि की आवकें अभी भी हो रही है क्योंकि किसान ने सरसों को रोक लिया है।

शुक्रवार और शनिवार के बाजार को देखें तो सरसों में 100 से 200 रुपये प्रति क्विंटल तक की तेजी देखने को मिली। सोमवार को जयपुर में कंडीशन सरसों के भाव 7150 रुपये प्रति क्विंटल चल रहे थे जो कि शनिवार को 7350 तक पहुँच गए।

सलोनी प्लांटों पर पूरे हफ्ते की घट बढ़ के बाद भाव 7800 प्रति क्विंटल तक बोले गए हैं। हालांकि शनिवार शाम को सरसों अपने टोप भाव से 50 रुपये नीचे खिसकती जरूर दिखी लेकिन ओवर ऑल मार्केट पॉजिटिव रहा। जैसा की आप सबको ज्ञात है कि सरसों का पुराना स्टॉक जीरो था।

इसके कारण ही ब्रांडेड कम्पनियों के द्वारा मार्केट में पूरे सीजन में अच्छी खरीददारी देखने को मिली है। जिस हिसाब से अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में खाद्य तेलों को लेकर कमी बनी हुई है ऐसा लग रहा है की तेल मीलों की खरीद बनी रहेगी।

उत्पादन के और आवक आंकड़े को देखा जाये तो है ऐसा कहना गलत नहीं है किसान ने अभी भी काफी सरसों को होल्ड करे रखा हुआ है। इसलिए भरसक प्रयास किया जा रहा है कि सरसों के दाम गिराए जाएं। लेकिन इंडोनेशिया से आयी अच्छी खबर के बाद मार्केट ने फिर से जोर पकड़ लिया है।

इंडोनेशिया ने रोका खाद्य तेलों का निर्यात

जैसा कि हम काफी दिन से बता रहे हैं कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेलों की कमी है। खाद्य तेलों के सबसे बड़े निर्यातक देश इंडोनेशिया ने घरेलू मार्केट में तेल कीमतों को नियंत्रित करने के लिए इंडोनेशिया से खाद्य तेलों एवं अन्य तिलहन के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है।

भारत इंडोनेशिया से बड़ी मात्रा में पाम तेल आयात करता है ऐसे में अब भारत सरकार के लिए बढ़ती कीमतों को रोकना टेढ़ी खीर बन गया है।

सरकार ने भी स्टॉक लिमिट की अवधि को बढ़ाकर, स्टॉक लिमिट पर काफी सख्ती दिखा कर और बाजारों में छापेमारी करके बढ़ती कीमतों को रोकने की काफी कोशिश की है लेकिन इसमे अभी तक कोई बड़ी सफ़लता नहीं मिली है।

पिछले हफ्ते की तरह इस हफ्ते भी अगर हम मंडियों में डेली की खरीद और भाव का विश्लेषण करें तो कुछ खास किस्म का ट्रेंड देखने को मिला है। सुबह मार्केट खुलते ही ब्रांडेड कंपनियों ने भाव घटा घटा कर खरीद करने की कोशिश की।

लेकिन जब किसानों ने घटे हुए भाव पर सरसों नहीं बेची तो हर दिन शाम तक भाव बढ़ाने पड़े। यही कारण है कि सरसों टॉप सीजन में भी सरसो के भाव में तेजी देखने को मिल रही है। हालाँकि विदेशी बाजारो में खाद्य तेलों की तेजी ने भी सरसों के भाव को घरेलू बाजार में सहारा दिया है।

आज के ताजा भाव

नरमा मंडी भाव Narma Mandi bhav

ऐलनाबाद मंडी आज का रेट 11625

सिरसा मंडी का टॉप भाव ₹ 11862

बरवाला मंडी आज का रेट 11201

आदमपुर मंडी नरमा भाव ₹ 11900

गेहूं के भाव Gehu Rate

टोहाना मंडी गेहूँ आज का रेट 2070

गुलावठी मंडी गेहूँ आज का भाव ₹ 2070

खैर मंडी गेहूं के रेट 2081/2200 आवक 5000

सरसों का प्राइस Sarso ka bhav

जयपुर कंडीशन सरसों भाव ₹ 7400 डाउन ₹150

दिल्ली सरसों भाव ₹ 7200 डाउन ₹ 100

Next Story