कृषि

PM Kisan: 11वीं क़िस्त से पहले किसानों के लिए आई गुड न्‍यूज, इन क‍िसानों की हो गई मौज

Rakesh Gusaiana
24 May 2022 5:13 AM GMT
PM Kisan: 11वीं क़िस्त से पहले किसानों के लिए आई गुड न्‍यूज, इन क‍िसानों की हो गई मौज
x
PM Kisan: पीएम क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि की 11वीं क‍िस्‍त म‍िलने से पहले छत्‍तीसगढ़ के 26 लाख से ज्‍यादा क‍िसानों को सरकार ने 1804 करोड़ रुपये ट्रांसफर क‍िए हैं. ये पैसे राज्‍य सरकार की तरफ से क‍िसानों को गोधन न्‍याय योजना (Godhan Nyan Yojana) के तहत द‍िया गया है.

Godhan Nyan Yojana : प्रधानमंत्री क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि योजना की 11वीं क‍िस्‍त का क‍िसानों का इंतजार जल्‍द पूरा होने वाला है. प‍िछले द‍िनों केंद्रीय कृष‍ि मंत्री नरेंद्र स‍िंह तोमर ने एक कार्यक्रम के दौरान बताया था क‍ि प्रधानमंत्री मोदी 31 मई को 11वीं क‍िस्‍त जारी करेंगे. 31 मई की क‍िस्‍त के साथ ही कुछ क‍िसानों को डबल फायदा म‍िलने वाला है. दरअसल, छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश स‍िंह बघेल (Bhupesh Singh Baghel) ने राज्‍य के क‍िसानों को एक और सौगात दी है.

1804 करोड़ रुपये ट्रांसफर क‍िए गए

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्‍यत‍िथ‍ि के अवसर पर छत्‍तीसगढ़ के क‍िसानों को 1804 करोड़ रुपये ट्रांसफर क‍िए गए हैं. राज्‍य सरकार ने गोधन न्‍याय योजना (Godhan Nyan Yojana) के तहत सूबे के क‍िसानों, भूम‍िहीन खेतीहर मजदूरों, पशुपालकों और एसएचजी की मह‍िलाओं को यह राश‍ि दी है. इस योजना का उद्देश्‍य राज्‍य के क‍िसानों की आय बढ़ाना है. छत्‍तीसगढ़ सरकार ने इस राश‍ि को पीएम क‍िसान (PM Kisan Samman Nidhi) की तरह सीधे लाथार्थ‍ियों के खातों में ट्रांसफर क‍िया.

इस तरह होगा डबल फायदा

इस योजना का लाभ प्रदेश के 26 लाख से ज्‍यादा क‍िसान और मजदूर उठा रहे हैं. छत्‍तीसगढ़ सरकार राजीव गांधी न्याय योजना के तहत प‍िछले दो साल में किसानों के खातों में 11 हजार 180 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुकी है. इस योजना के तहत राश‍ि पाने क‍िसानों को कुछ द‍िन बाद केंद्र सरकार की योजना पीएम क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि म‍िलने से कम समय में डबल फायदा होने जा रहा है.

क‍िया जाना है 5703 करोड़ का भुगतान

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में सरकार ने खरीफ फसलों को भी जोड़ा है. इस योजना के तहत पूरे साल में 5703 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान 4 किस्तों में किया जाएगा. राज्‍य सरकार की इस पहल से किसानों को खेती के लिए बड़ी राशि मिलेगी. आपको बता दें कोरोनाकाल में इस कार्यक्रम का आयोजन वर्चुअल मोड में होता था.

Next Story