कृषि

PM Kisan Yojana: अरे ये क्या! खाते में नहीं आए 2 हजार रुपये, तुरंत मिलाएं ये नंबर, मिलेगी हाथोंहाथ मदद

Rakesh Gusaiana
31 May 2022 9:46 AM GMT
PM Kisan Yojana: अरे ये क्या! खाते में नहीं आए 2 हजार रुपये, तुरंत मिलाएं ये नंबर, मिलेगी हाथोंहाथ मदद
x
PM Kisan Yojana 11th Installment: पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को मिलने वाली 11वीं किस्त के 21 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए.

PM Kisan Yojana Helpline Number: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को हिमाचल प्रदेश के शिमला में करोड़ों किसानों को बड़ी सौगात दी. पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojana) के तहत मिलने वाली 11वीं किस्त के 21 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए. इसके तहत, किसानों के खाते में दो-दो हजार रुपये आए हैं. 10 करोड़ से अधिक किसानों को पीएम किसान योजना का लाभ मिला है.

शिमला में आयोजित 'गरीब कल्याण सम्मेलन' कार्यक्रम में पीएम मोदी ने किसानों से बातचीत भी की. यह कार्यक्रम सालभर तक चलने वाले 'आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत आयोजित किया गया था.

पीएम किसान योजना के तहत किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं. ज्यादातर किसानों के खाते में दो-दो हजार रुपये आ चुके हैं, लेकिन यदि कोई किसान है जिसके खाते में पैसा नहीं आया है तो वह हेल्पलाइन की मदद ले सकता है. यह सरकारी हेल्पलाइन पीएम किसान योजना से जुड़ी दिक्कतों के लिए ही बनाई गई है.

पीएम किसान योजना के हेल्पलाइन नंबर

  • पीएम किसान योजना टोल फ्री नंबर: 011-24300606,
  • पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर: 155261
  • पीएम किसान योजना ईमेल आईडी: ई-मेल आईडी: [email protected]

कार्यक्रम में क्या बोले पीएम मोदी?

शिमला में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ''देश के 10 करोड़ से भी ज्यादा किसानों को पीएम सम्मान निधि की 11 वीं किस्त उनके खाते में सीधे ट्रांसफर किया गया. सभी किसान भाईयों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं. हमने शत-प्रतिशत लाभ, शत प्रतिशत लाभार्थी तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है.

लाभार्थियों के सैचुरेशन का प्रण लिया है. शत-प्रतिशत सशक्तीकरण यानी भेदभाव खत्म, सिफारिशें खत्म, तुष्टिकरण खत्म, हर गरीब को सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ दिया गया है.'' उन्होंने आगे कहा कि पीएम आवास योजना हो, स्कॉलरशिप देना हो या फिर पेंशन योजनाएं, टेक्नोलॉजी की मदद से हमने भ्रष्टाचार का स्कोप कम से कम कर दिया है. आज चर्चा जन-धन खातों से मिलने वाले फायदों की हो रही है, जनधन-आधार और मोबाइल से बनी त्रिशक्ति की हो रही है.''

Next Story