कृषि

पहले आओ पहले पाओ के तहत 75% Subsidy पर मिल रहे सोलर पंप, 23 अगस्त से शुरू होंगे आवेदन

Sandeep Beni
12 Aug 2022 5:14 PM GMT
पहले आओ पहले पाओ के तहत 75% Subsidy पर मिल रहे सोलर पंप, 23 अगस्त से शुरू होंगे आवेदन
x
सब्सिडी पर सोलर पंप लगवाने के लिए आवेदन से 23 शुरू, यहाँ देखें जरुरी दस्तावेज और आवेदन करने की पूरी...

KUSUM Solar Pump Yojna 2022 | किसानों भाइयों की फसल सिंचाई पर ही निर्भर करती है। किसानों के हित को ध्यान में रखकर यह योजना सरकार द्वारा लागू की गई। कुसुम योजना की मदद से किसान अपनी जमीन में सौर उर्जा पंप लगाकर खेतों की सिंचाई बगैर किसी खर्च के कर सकता है। तो सरकार सोलर पंप लगाने के लिए सब्सिडी दे रही है हम जानेगे किसान इसका लाभ कैसे ले सकते हैं,।

क्या है कुसुम योजना (Solar Pump Yojna 2022)

पीएम-कुसुम योजना को मार्च 2019 में प्रशासनिक मंजूरी मिली और जुलाई 2019 में दिशानिर्देश तैयार किए गए। यह योजना नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा देश भर में सौर पंप और अन्य नए बिजली संयंत्र स्थापित करने के लिए शुरू की गई थी।

योजना का उद्देश्य

कुसुम योजना का उद्देश्य किसानों को सिंचाई के लिए आसानी से वाटर पंप (KUSUM Solar Pump Yojna 2022) की उपलब्धता हो जाए। कुसुम योजना की मदद से किसान की जमीन पर बनने वाली बिजली से देश के गांवों में भी बिजली की 24 घंटे आपूर्ति संभव हो सकती है। इस योजना से किसानों की डीजल और केरोसिन तेल पर निर्भरता घटेगी और इससे पैदा होने वाली अतिरिक्त बिजली को वे किसी कंपनी को बेच सकेंगे।

नवकरणीय ऊर्जा

नवकरणीय ऊर्जा संसाधनों (सौर, पवन, बायोमास व लघु जल विद्युत ऊर्जा) से विद्युत उत्पादन को बढावा देने के उद्देश्य से नीतियॉ और मध्य प्रदेश ऊर्जा संरक्षण फंड नियम व अन्य मार्गदर्शिका प्रदेश शासन द्वारा लागू की गई है। इस योजना से किसान सौर ऊर्जा उत्पादन करने और उसे ग्रिड को बेचने में सक्षम होंगे, यानी उनकी आमदनी भी बढ़ेगी। योजना का उद्देश्य यह भी है कि इस योजना के माध्यम से देश में हो रहे पॉल्यूशन को कम किया जाए।

भारत सरकार की पीएम-कुसुम योजना 35 लाख से अधिक किसानों को उनके कृषि पंपों को सोलराइज करके और किसानों को 10 गीगावॉट वितरित सौर परियोजनाओं की अनुमति देकर स्वच्छ ऊर्जा प्रदान करने के लिए दुनिया की सबसे बड़ी पहलों में से एक है।

इस योजना के लिए 340.35 बिलियन रुपये का वित्त किया गया है और 31 दिसंबर, 2022 तक 30.8 GW सौर ऊर्जा का निर्माण करने का प्रयास किया गया है।

सिंचाई उपकरणों पर 75 % सरकारी सब्सिडी मिलेगी

  • पीएम कुसुम योजना के तहत किसानों को 75 % सरकारी सब्सिडी मिलेगी
  • ऑनलाइन आवेदन 23 अगस्त से होंगे शुरू
  • आवेदन सरकार का पोर्टल https://saralharyana.gov.in/
  • बिजली व वाटर पंप पर मिलेगा अनुदान

KUSUM Solar Pump Yojna 2022 | सोलर पम्प योजना के तहत, कृषक को सोलर पम्प का लाभ इस शर्त पर दिया जाएगा कि किसान को अपनी भूमि के उस खसरे पर भविष्य में विद्युत पम्प लगाये जाने पर उसको बिजली पर कोई अनुदान देय नहीं होगा। किसान द्वारा स्वयं का प्रमाण भी दिया जाना चाहिए, कि वर्तमान में कृषक के उस खसरे की भूमि पर विद्युत पम्प संचालित नहीं है। यदि सम्बन्धित भूमि पर बिजली पम्प का कनेक्शन करवा लेता है अथवा उस पर प्राप्त अनुदान छोड़ देता है, तब उसे सोलर पम्प स्थापना पर अनुदान दिया जा सकता है।

जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट संबंधी जानकारी,
  • जात‍ि स्वाघोषणा,
  • जमीन से संबंध‍ित खसरे की जानकारी,
  • जहां सोलर पंप लगवाना है वहां की जानकारी दर्ज करवानी होगी।
  • ऑनलाइन आवेदन कैसे करें, स्टेप बाय स्टेप जानिए

KUSUM Solar Pump Yojna 2022 | कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://saralharyana.gov.in/ पर जाकर वहां से आवेदन कर सकते हैं।

यहॉं नवीन आवेदन करें पर क्लिक कर प्रक्रिया प्रारंभ करें।

यहॉं पर कृषक का मोबाइल नंबर ज‍िससे पंजीकरण करना हो, दर्ज करें। एप्ली‍केशन मोबाइल पर OTP भेजकर सही नंबर की जॉंच करेगा।

OTP सत्यापन के उपरांत कृषक की सामान्य जानकारी दर्ज की जानी होगी।

किसान अपनी जानकारी दर्ज कर सबमिट कर सकता है।

जिसके बाद आवेदन को सुरक्षित करने पर पोर्टल आवेदन क्रमांक आवंट‍ित कर SMS के माध्यम से सूच‍ित करेगा तथा आपको आनलाइन पेमेण्ट हेतु आगे बढायेगा।

यद‍ि कृषक स्वयं अपने कंप्यूटर से आनलाइन भुगतान करना चाहता है तो Citizen आप्शन के माध्यम से आगे बढना होगा।

पेमेण्ट हो जाने पर आवेदक को आवेदन क्रमांक प्राप्त हो जावेगा तथा SMS के माध्यपम से भी सूचना प्राप्तम हो जावेगी।




Next Story