मोबाइल & गैजेट्स

सावधान! गूगल क्रोम यूजर्स पर खतरे की तलवार! डाटा बचाना है तो फौरन करें ये काम

Lalit Bhadu
3 May 2022 11:13 AM GMT
सावधान! गूगल क्रोम यूजर्स पर खतरे की तलवार! डाटा बचाना है तो फौरन करें ये काम
x
Google Chrome के एक वर्जन लॉन्च किया गया है जो सुरक्षा की दृष्टि से बेहद ही अहम हो जाता है। बता दें कि CERT-In के अनुसार, 101.0.4951.41 से पहले का Google क्रोम वर्जन सॉफ्टवेयर में नई खामी से प्रभावित हुआ है।

New Delhi Google Chrome नई खामी से हुआ प्रभावित

• जारी हुआ क्रोम का नया अपडेट

• यूजर्स को करना होगा ये काम

साइबर क्राइम नोडल एजेंसी CERT-In

ने डेस्कटॉप के लिए googleक्रोम ब्राउजर में कुछ थ्रेट्स के बारे में बताया है। एजेंसी ने इन कमियों को हाई लेवल थ्रेट बताया है। एजेंसी ने उन वर्जन्स पर प्रकाश डाला है जो कई खामियों से प्रभावित है। इसके लिए एक वर्जन लॉन्च किया गया है जो सुरक्षा की दृष्टि से बेहद ही अहम हो जाता है। बता दें कि CERT-In के अनुसार, 101.0.4951.41 से पहले का Google क्रोम वर्जन सॉफ्टवेयर में नई खामी से प्रभावित हुआ है।

गूगल क्रोम की खामियां:

CERT-In ने गूगल क्रोम में कई खामियों को उजागर किया है। हैकर सुरक्षा प्रतिबंधों को बायपास करने और टारगेटेड सिस्टम पर बफर ओवरफ्लो का कारण बनने में पूरी तरह से सक्षम है। एजेंसी का दावा है कि वल्कन, स्विफ्टशैडर, एंगल, डिवाइस एपीआई, शेरिन सिस्टम एपीआई, ओजोन, ब्राउजर स्विचर, बुकमार्क्स, देव टूल्स और फाइल मैनेजर को फ्री इस्तेमाल इस्तेमाल करने के बाद ये खामियां Google क्रोम में मौजूद हैं।

कैसे रहें सुरक्षित:

CERT-In ने दावा किया है कि सुरक्षित रहने के लिए यूजर्स को गूगल क्रोम वर्जन 101.0.4951.41 में अपग्रेड करना होगा। इससे पहले का कोई भी वर्जन हैकर्स के हमलों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। Google ने भी इस मामले को मान लिया है

• और 30 खामियों की लिस्ट तैयार की है। इसमें से 7 हाई लेवल के खतरे पैदा कर सकते हैं। Google ने दावा किया है कि विंडोज, मैक और लिनक्स के लिए अपडेट पहले से ही जारी है। अगर आपका ब्राउजर ऑटोमैटिक अपडेट नहीं होता है तो आप मैनुअली भी इसे अपडेट कर सकते हैं।

कैसे करें अपडेट: सबसे पहले क्रोम ओपन करें।

• फिर राइट कॉर्नर पर जाएं और तीन हॉरिजॉन्टल डॉट्स पर क्लिक करें।

• फिर आपको एक ड्रॉप-डाउन मेन्यू मिलेगा।

• इस मेन्यू में सेटिंग विकल्प देखें।

• सेटिंग पर आने के बाद Help पर क्लिक करें। फिर About google chrome पर क्लिक करना होगा।

• Chrome किसी भी पेंडिंग अपडेट्स को डाउनलोड कर ना शुरू कर देगा।

• इंस्टॉल होने के बाद आपको ब्राउजर दोबारा से रिलॉन्च करना होगा।

Next Story