मोबाइल & गैजेट्स

यदि आपका भी है फेसबुक अकाउंट तो हो जाओ सावधान, फिशिंग ने लाखों फेसबुक यूजर्स को किया टार्गेट

Rachna Singh
25 Jun 2022 1:07 PM GMT
यदि आपका भी है फेसबुक अकाउंट तो हो जाओ सावधान, फिशिंग ने लाखों फेसबुक यूजर्स को किया टार्गेट
x
नई दिल्ली. यदि आपका भी फेसबुक अकाउंट है तो आपको सावधान हो जाने की जरूरत है. बात ये है कि साइबर रिसर्चर्स ने कहा है कि बड़ी संख्या में फेसबुक अकाउंट खतरे में हैं. हैकर्स उनके पैसे चुराने के लिए फिशिंग स्कैम से उन्हें निशाना बना रहे हैं. इन शोधकर्ताओं का कहना है कि बड़े पैमाने पर फिशिंग अभियान ने दुनियाभर में लाखों फेसबुक यूजर्स को टार्गेट किया गया है.

नई दिल्ली. यदि आपका भी फेसबुक अकाउंट है तो आपको सावधान हो जाने की जरूरत है. बात ये है कि साइबर रिसर्चर्स ने कहा है कि बड़ी संख्या में फेसबुक अकाउंट खतरे में हैं. हैकर्स उनके पैसे चुराने के लिए फिशिंग स्कैम से उन्हें निशाना बना रहे हैं. इन शोधकर्ताओं का कहना है कि बड़े पैमाने पर फिशिंग अभियान ने दुनियाभर में लाखों फेसबुक यूजर्स को टार्गेट किया गया है.

HT Tech ने लिखा है, शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी कि फेसबुक फिशिंग स्कैम मोबाइल उपकरणों पर फेसबुक मैसेंजर के जरिए तेजी से फैल रहा है. आश्चर्यजनक रूप से, हाल ही में खोजे गए इस फिशिंग अटैक को लगभग एक वर्ष से अधिक का समय हो गया है. इसे PIXM के निक एस्कोली (Nick Ascoli) ने उजागर किया है. PIXM एक एंटी-फिशिंग ब्राउज़र एक्सटेंशन है. टेक न्यूज वेबसाइट हेल्पनेट सिक्योरिटी (HelpNetSecurity) ने एक वीडियो में फिशिंग अटैक कैंपेन के बारे में बताया.

लाखों लोग देख रहे हैं इन वेबसाइट्स को

एस्कोली की टीम ने खुलासा किया कि कई कुटिल (Masquerading) वेबसाइट्स आधिकारिक फेसबुक लॉग-इन पेज के रूप में सामने आ रही थीं. PIXM के एस्कोली ने वीडियो में बताया कि ज्यादा खतरनाक यह है कि इस तरह की प्रत्येक वेबसाइट को लाखों लोग देख रहे हैं. इन वेबसाइट्स का उद्देश्य लोगों को उनके फेसबुक क्रेडेंशियल्स को चुराने के लिए धोखा देना है. दुर्भावनापूर्ण वेबसाइटों के ये लिंक मैसेंजर द्वारा व्यापक रूप से साझा किए जा रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि एक बार इन ऑनलाइन धोखेबाजों द्वारा फेसबुक क्रेडेंशियल्स हासिल कर लिए गए, तो वे आसानी से आपके फेसबुक अकाउंट में लॉग इन कर सकते हैं. यह ऑटोमेटिकली भी किया जा सकता है.

अटैकर्स के पास पैसे चुराने के कई कुटिल तरीके

साइबर शोधकर्ता ने खुलासा किया कि हमलावरों ने अपने टार्गेट लोगों के नाम को लिंक में डालने का एक तरीका भी निकाला है, ताकि इसे और अधिक वास्तविक बनाया जा सके. ये फेसबुक लॉगिन बैंकिंग जानकारी वाले खातों तक ले जा सकते हैं, जैसे शॉपिंग वेबसाइट, जहां लोग आमतौर पर वेबसाइट के पोर्टल में लॉग-इन करने के लिए फेसबुक का उपयोग करते हैं. हालांकि, ऑनलाइन अटैकर्स जो इस फेसबुक स्कैम कैम्पेन को चला रहे हैं, उनके पास पैसे चुराने के बड़े कुटिल तरीके हैं.

समझ लीजिए कि एक बार जब किसी ने अपनी फेसबुक डिटेल्स को नकली वेबसाइट में डाल दिया, तो उन्हें एक विज्ञापन पेज पर रि-डायरेक्ट किया जाएगा. कहा गया है कि हैकर्स इन नकली लॉगिन पेजों पर एक सफल हिट के साथ एक शिकार से एक महीने में सैकड़ों डॉलर भी कमा सकते हैं.

Next Story