अपराध

हरियाणा में पीएचडी डिग्री की होगी जांच, अटकी लेक्चरर और प्रोफेसरों की सांस, खामियां पाई जाने पर निरस्त होंगी डिग्रीयां

Mukesh Gusaiana
14 Feb 2022 12:58 AM GMT
हरियाणा में पीएचडी डिग्री की होगी जांच, अटकी लेक्चरर और प्रोफेसरों की सांस, खामियां पाई जाने पर निरस्त होंगी डिग्रीयां
x

हरियाणा के सभी राजकीय और राजकीय सहायता प्राप्त कालेजों में कार्यरत सरकारी और एक्सटेंशन लेक्चरर(Government…

हरियाणा के सभी राजकीय और राजकीय सहायता प्राप्त कालेजों में कार्यरत सरकारी और एक्सटेंशन लेक्चरर(Government and Extension Lecturer) जिन्होंने वर्ष 2009 के बाद पीएचडी(PHD) की है उनकी डिग्री की जांच के आदेश डायरेक्टर जनरल हायर एजुकेशन पंचकूला (Director General Higher Education Panchkula) ने करने के आदेश जारी कर दिए हैं। जांच का जिम्मा सभी कालेजों के प्रिंसिपल (Principal) को सौंपा गया है।

राजस्थान की पांच प्राइवेट यूनिवर्सिटी (Five Private Universities) का जिक्र विशेषतौर पर करते हुए अन्य प्राइवेट यूनिवर्सिटी से भी डिग्री लेने वाले सभी शिक्षकों की डिग्री की जांच के आदेश दिए गए हैं। इतना ही नहीं जांच में क्या-क्या किया जाना है इसकी सूची भी निदेशालय ने पत्र जारी कर प्रिंसिपल को भेजी है।

साथ ही निर्देश दिए हैं कि इस जांच के लिए कमेटी का गठन किया जाए और संबंधित यूनिवर्सिटी से रिकार्ड एकत्रित कर रिपोर्ट निदेशालय (Directorate) को भेजी जाए। जांच के आदेश जारी होने से सभी कालेजों में कार्यरत लेक्चरर व प्रोफेसर (Lecturer and Professor) की सांसें अटक गई हैं।

करीब डेढ़ साल पहले भी विभाग ने सभी एक्सटेंशन और सरकारी लेक्चरर(Extension and Government Lecturer) और प्रो. की पीएचडी के दस्तावेज मांगे थे लेकिन जांच नहीं करवाई गई थी न ही जांच का कोई दायरा तय नहीं किया गया था। फर्जी PHD डिग्री पाए जाने पर एक्सटेंशन लेक्चरर का वेतन घटाए जाने से लेकर हटाने का भी प्रावधान है जबकि नियमित लेक्चरर या प्रोफेसर की पदोन्नति पर रोक लगनी तय है।

इन पांच यूनिवर्सिटी का किया गया जिक्र

1- ओपीजेएस यूनिवर्सिटी चुरू- (OPJS University Churu)

2- सिंघानिया विश्वविद्यालय झुंझुनू- (Singhania University Jhunjhunu)

3- श्रीधर विश्वविद्यालय झुंझुनू- (Sridhar University Jhunjhunu)

4- सनराइज विश्वविद्यालय अलवर- (Sunrise University Alwar)

5- जगदीश प्रसाद जाभरमल इबड़ेवाला विश्वविद्यालय झुंझुनू- (Jagdish Prasad Jabharmal Ibdewala University Jhunjhunu)

इन विश्वविद्यालयों के अलावा अन्य विश्वविद्यालयों से पीचीडी की डिग्री धारकों की रजिस्ट्रेशन की तारीख और फीस की रसीदें। कोर्स वर्क का समय, तारीख सहित, विभागीय कमेटी द्वारा सिनाप्सिस (सार) अप्रूवल की तारीख, शोध पत्रों का प्रकाशन, PHD करने के दौरान प्रकाशित शोधपत्रों का विवरण वह किस जरनल में है उसका ब्यौरा, पीएचडी के दौरान उसकी पोस्टिंग कहां-कहां रही।

शोधकर्ता के गाइड का विषय क्या था और उसकी पोस्टिंग कहां-कहां रही। दो विषय विशेषज्ञ के मूल्यांकन की रिपोर्ट, वाइवा की रिपोर्ट, वाइवा तारीख और पीएचडी नोटिफिकेशन की तारीख और उसकी प्रति मांगी गई है।

निदेशालय ने यह भी आदेश दिए हैं कि जो रिपोर्ट भेजी जाए और संबंधित दस्तावेज संबंधित University के रजिस्ट्रार द्वारा सत्यापित होने चाहिए या उस व्यक्ति द्वारा जिसे संबंधित University के वीसी ने नियुक्त किया हो। साथ ही यह भी कहा है कि यदि इस प्रक्रिया में कोई खामी पाई जाती है या वेरिफिकेशन और रिपोर्ट भेजने में कोई खामी पाई गई तो विभाग संबंधित कालेज के प्रिंसिपल को इसका जिम्मेदार मानेगा।

राजीव गांधी राजकीय कालेज साहा (Rajiv Gandhi Government College Saha) के प्रिसिंपल सतपाल सिंह ने बताया कि विभागीय आदेशों के अनुसार जांच कमेटी का जल्द ही गठन कर दिया जाएगा। 8 फरवरी को आदेश जारी हुए हैं। जांच में जो भी तथ्य उजागर होंगे उनकी रिपोर्ट भी निदेशालय को जल्द भेज दी जाएगी।

Next Story