वायरल

Government School में टॉयलेट साफ करती हुई दिखीं लड़कियां, तस्वीरें देख लोगो के उड़े होश

Sandeep Gusaiana
23 Sep 2022 6:54 AM GMT
Government School में टॉयलेट साफ करती हुई दिखीं लड़कियां, तस्वीरें देख लोगो के उड़े होश
x
मध्य प्रदेश के गुना जिले के चकदेवपुर गांव में एक सरकारी स्कूल के शौचालय की सफाई करते हुए कुछ छात्राओं को एक चौंकाने वाली घटना में देखा गया. वायरल हो रही तस्वीरों में लड़कियां हाथ में झाड़ू, बाल्टी और मग लिए गांव के प्राइमरी स्कूल के शौचालय की सफाई करती नजर आ रही हैं.

Girls Cleaning Toilet In Government School: मध्य प्रदेश के गुना जिले के चकदेवपुर गांव में एक सरकारी स्कूल के शौचालय की सफाई करते हुए कुछ छात्राओं को एक चौंकाने वाली घटना में देखा गया. वायरल हो रही तस्वीरों में लड़कियां हाथ में झाड़ू, बाल्टी और मग लिए गांव के प्राइमरी स्कूल के शौचालय की सफाई करती नजर आ रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि लड़कियां कक्षा 5 और 6 की छात्रा थीं, और जिले के चकदेवपुर गांव में स्थित एक प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में पढ़ती हैं.

स्कूल का टॉयलेट साफ कर रही थी बच्ची

जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने उन रिपोर्ट्स का खंडन किया कि लड़कियों को स्कूल में शौचालय साफ करने के लिए मजबूर किया गया था, जबकि राज्य के पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने घटना की जांच के आदेश दिए थे. डीईओ सोनम जैन ने कहा कि जांच के दौरान लड़कियों ने स्पष्ट किया कि उन्होंने शौचालयों की सफाई नहीं की थी और शौचालयों का उपयोग करने के बाद मंगलवार को परिसर में एक हैंडपंप से पानी लाकर पानी डाला था क्योंकि वे बारिश के कारण गंदे हो गए थे.

हाथों में झाड़ू पकड़े तस्वीरें हुई वायरल

सोनम जैन ने कहा कि उन्होंने लड़कियों के साथ-साथ उनके माता-पिता और स्कूल के स्टाफ सदस्यों के भी बयान दर्ज किए हैं, और उन सभी ने इस बात से इनकार किया कि छात्रों को शौचालय साफ करने के लिए कहा गया था. एक अधिकारी ने कहा कि सुबह स्थानीय मीडिया में छात्राओं के हाथों में झाड़ू पकड़े और हैंडपंप से पानी लेकर शौचालय की सफाई करते हुए तस्वीरें सामने आने के बाद राज्य के मंत्री सिसोदिया ने गुना जिला कलेक्टर को मामले की जांच करने का निर्देश दिया.

अधिकारी ने कहा कि दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

अधिकारी ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग की एक टीम भी अलग से जांच करने के लिए गुरुवार को स्कूल पहुंची. गांव में एक ही परिसर से स्कूल के प्राइमरी और मिडिल दोनों वर्गों का संचालन किया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'हमने मामले को बहुत गंभीरता से लिया है और मामले की जांच कर रहे हैं.' शिक्षा विभाग के उप निदेशक चंद्रशेखर सिसोदिया ने कहा कि मामले में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Next Story