मौसम की जानकारी

Haryana Weather Update: 5 अगस्त से हरियाणा में फिर होगा मानसून सक्रिय, जाने आगे कैसा रहेगा मौसम

Mukesh Gusaiana
3 Aug 2022 2:36 PM GMT
Haryana Weather Update: 5 अगस्त से हरियाणा में फिर होगा मानसून सक्रिय, जाने आगे कैसा रहेगा मौसम
x
Haryana Weather Update: मॉनसून ने हरियाणा में जुलाई महीने में अपनी सक्रियता दर्ज कराई। प्रदेश के अधिकतर जिलों में जुलाई के दिनों में बारिश देखने को मिली।

Haryana Weather Update: मॉनसून ने हरियाणा में जुलाई महीने में अपनी सक्रियता दर्ज कराई। प्रदेश के अधिकतर जिलों में जुलाई के दिनों में बारिश देखने को मिली। कुछ जिलों में मूसलाधार तो कुछ जिलों में रुक रुक कर। जुलाई महीने के खत्म होने के साथ ही हरियाणा में मौसम ने एक बार फिर से करवट बदली है। मौसम विभाग का मानना है कि अगस्त महीने में भी मॉनसून हरियाणा में दस्तक देगा। जिसके बाद प्रदेश में बारिश का मौसम बनेगा। आगामी दिनों के मौसम को लेकर मौसम विज्ञान विभाग की ओर से पूर्वानुमान जारी किया गया है।

मौसम रिपोर्ट के मुताबिक, बीते मंगलवार के दिन दिल्ली एनसीआर समेत हरियाणा के कुछ जिलों में हल्की फुल्की बारिश देखने को मिली। वर्तमान में अब सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ ने मॉनसून की पूर्वी हवाओं को मध्य भारत की तरफ धकेल दिया है जिस कारण संपूर्ण इलाके में मॉनसून गतिविधियों में गिरावट देखने को मिली है। इसी के प्रभाव से अगले दो-तीन दिनों तक हरियाणा और उसके आसपास के इलाकों में आंशिक बादल वाही और सीमित बारिश देखने को मिलेगी। यानी आगे आने वाले दिनों में मौसम शुष्क बना रहेगा।

हरियाणा में इस दिन सक्रिय होगा मॉनसून

मौसम पूर्वानुमान रिपोर्ट में कहा गया है कि मैदानी राज्यों पंजाब, हरियाणा, एनसीआर दिल्ली और उत्तरी राजस्थान, व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में वर्तमान में उत्तर पश्चिम/पश्चिम व दक्षिण पश्चिमी हवाएं चल रही हैं। जिस कारण ताजा बादलों का फूटाव और निर्माण नही हो रहा,इसलिए यहां फिर से मौसम साफ, गर्म और उमस भरा बना हुआ है।

परंतु जल्द ही दो-तीन दिनों बाद एक बार दोबारा दक्षिणी पुर्वी नमी वाली हवाओं का रूख मैदानी राज्यों पर हो जाएगा जिस कारण सम्पूर्ण मैदानी राज्यों में फिर से बारिश हो सकती है। यानी 5 अगस्त के बाद मानसून एक बार फिर से सक्रिय होगा‌ और हरियाणा में एक बार फिर से बारिश देखने को मिलेगी। 5 अगस्त के बाद इसी चक्रवातीय सरकुलेशन के कारण मानसून टर्फ रेखा को बंगाल की खाड़ी से आने वाली दक्षिणी पूर्वी नमी वाली पवनों को फिर से गति मिलेगी और इन सभी मौसम प्रणालीयों द्वारा 5 से 10 अगस्त के दौरान उत्तरी मैदानी राज्यों पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, एनसीआर दिल्ली में अधिकतर स्थानों पर मानसून को बढ़ावा मिलेगा।

Next Story