मौसम की जानकारी

दिल्ली से गर्मी छू-मंतर! एक हफ्ते तक बारिश से मौसम होगा खुशनुमा, जारी हुआ ये अलर्ट

Hawa Singh
14 Jun 2022 7:06 AM GMT
दिल्ली से गर्मी छू-मंतर! एक हफ्ते तक बारिश से मौसम होगा खुशनुमा, जारी हुआ ये अलर्ट
x
Delhi Rainfall: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 14 से 20 जून तक लगातार गरज और हल्की बारिश होने का पूर्वानुमान है. ऐसे में प्री मॉनसून गतिविधियां राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को बढ़ते तापमान एवं गर्मी से कुछ राहत दिला सकती हैं.

दिल्ली से गर्मी छू-मंतर! एक हफ्ते तक बारिश से मौसम होगा खुशनुमा, जारी हुआ ये अलर्ट

दिल्ली से गर्मी छू-मंतर! एक हफ्ते तक बारिश से मौसम होगा खुशनुमा, जारी हुआ ये अलर्ट

राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को प्री मॉनसून गतिविधियों के शुरू होने के साथ ही गर्मी से जल्द राहत मिलने की उम्मीद है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, दिल्ली में आज (मंगलवार), 14 जून से 20 जून तक यानी एक हफ्ते गरज के साथ बारिश होने की संभावना है.

राष्ट्रीय राजधानी में आज न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 31 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दिल्ली के आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने का पूर्वानुमान जताया है. मौसम में बदलाव होने से लोगों को भीषण गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है. वहीं, दिल्ली में 14 जून को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रह सकता है.

इसके अलावा दिल्ली में 14 से 20 जून तक लगातार गरज और हल्की बारिश होने का पूर्वानुमान है. ऐसे में प्री मॉनसून गतिविधियां राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को बढ़ते तापमान एवं गर्मी से कुछ राहत दिला सकती हैं.

Delhi Weather Forecast IMD Updates

IMD ने अपने पूर्वानुमान में बताया कि उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी से निजात मिल सकती है. दरअसल, इस क्षेत्र में 16 और 17 जून को बारिश होने का अनुमान है. वहीं, पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पूर्वी उत्तर प्रदेश में व्यापक बारिश के आसार हैं.

आईएमडी के पूवार्नुमान के मुताबिक, 16 जून को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरी पंजाब और उत्तरी हरियाणा में मध्यम बारिश हो सकती है. आईएमडी के पूवार्नुमान में कहा कि अगले तीन दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट की संभावना है.

बता दें कि मौसम विशेषज्ञों ने मजबूत पश्चिमी विक्षोभ यानी वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) की कमी और लगातार गर्म एवं शुष्क पश्चिमी हवाओं को मौजूदा गर्मी के लिए जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि, लगातार पश्चिमी विक्षोभ और निचले स्तर की पूर्वी हवाओं के प्रभाव से जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर भारत के कुछ क्षेत्रों में 15 जून से गरज/बिजली के साथ छिटपुट बारिश हो सकती है.

Next Story