मौसम की जानकारी

Heat Wave: 15-16 जून तक मिलेगी गर्मी से बड़ी राहत, इन इलाकों में लू का पारा हुआ कम

Lalit Bhadu
12 Jun 2022 4:40 PM GMT
Heat Wave: 15-16 जून तक मिलेगी गर्मी से बड़ी राहत, इन इलाकों में लू का पारा हुआ कम
x
मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि 15-16 जून तक बड़ी राहत मिलने का अनुमान है.

Heat Wave in India: उत्तर पश्चिम भारत के कुछ क्षेत्रों में लोगों को रविवार को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा. हालांकि देश के मध्य और आसपास के पूर्वी हिस्सों में ज्यादातर स्थानों पर लू का प्रकोप कुछ कम हुआ. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी.

22 कस्बों और शहरों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री से ऊपर

विभाग ने कहा कि राजस्थान, मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, झारखंड और दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू की स्थिति बनी हुई है. विभाग ने कहा कि इन राज्यों के कम से कम 22 कस्बों और शहरों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया.

2 जून से लू की चपेट में है उत्तर पश्चिम भारत

उसने एक बयान में कहा, 'मध्य और आसपास के पूर्वी भारत के ज्यादातर हिस्सों में लू का प्रकोप कुछ कम हुआ है.' विभाग ने कहा कि हालांकि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अलग-अलग इलाकों में लू का प्रकोप सोमवार तक जारी रहने का अनुमान है. गर्म और शुष्क पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर पश्चिम भारत दो जून से लू की चपेट में है.

15-16 जून तक बड़ी राहत मिलने का अनुमान

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि 15-16 जून तक बड़ी राहत मिलने का अनुमान है. विभाग ने बताया कि एक नये पश्चिमी विक्षोभ और निचले स्तर की पूर्वी हवाओं के प्रभाव की वजह से 15-16 जून को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में व्यापक स्तर पर बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है.

अधिकतम तापमान में आयेगी गिरावट

मौसम विभाग ने मंगलवार से उत्तर पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट का अनुमान जताया है. विभाग ने बताया कि 16 जून से 22 जून के बीच, अधिकतम तापमान 'सामान्य से कम रहने या सामान्य के करीब रहने' की संभावना है.

इन राज्यों में 5 दिन तक जारी रहेगी भारी बारिश

मानसून के संबंध में, विभाग ने कहा कि अगले चार दिनों में गुजरात, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओड़िशा, झारखंड और बिहार के कुछ और हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल बनी रहेंगी. विभाग ने कहा कि पश्चिमी प्रायद्वीपीय तट पर भारी बारिश दो और दिनों तक जारी रहने का अनुमान है. मौसम विभाग ने कहा कि पूर्वोत्तर और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भारी बारिश का सिलसिला अगले पांच दिनों तक जारी रहने का अनुमान है.

Next Story