मौसम की जानकारी

Weather Update : हरियाणा समेत दिल्‍ली-NCR में प्री मानसून की आहट, आंधी और झमाझम बारिश ने दी राहत, इन राज्‍यों में अलर्ट

Rakesh Gusaiana
24 May 2022 4:47 AM GMT
Weather Update : हरियाणा समेत दिल्‍ली-NCR में प्री मानसून की आहट, आंधी और झमाझम बारिश ने दी राहत, इन राज्‍यों में अलर्ट
x
Weather Update : हरियाणा समेत दिल्‍ली-NCR में प्री मानसून की आहट, आंधी और झमाझम बारिश ने दी राहत, इन राज्‍यों में अलर्ट- Weather Update: In Delhi-NCR including Haryana, the sound of pre-monsoon

हरियाणा, दिल्ली एनसीआर के कई हिस्सों में कई हिस्सों में विशेष रूप से फरीदाबाद और दक्षिणी दिल्ली में जमकर बदरा बरसे। ओलावृष्टि के साथ तेज गरज और बारिश की गतिविधियां दर्ज की गईं। गर्मी से काफी राहत मिली।

हरियाणा में कई दिनों के बाद मई के कुछ दिन राहत भरे नजर आ रहे हैं। हरियाणा में एक और पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुआ। सोमवार रात को जमकर बारिश हुई। हालांकि तेज हवाओं ने लोगों को संकट में डाले रखाा। हरियाणा में सर्वाधिक बारिश गुरुग्राम में दर्ज की गई। कई स्थानों पर 30 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी आई। जिससे कई स्थानों पर पेड़ व बिजली के खंभे उखड़ गए।

प्री-मानसून गतिविधियां हरियाणा और पंजाब के कुछ हिस्सों पर बने एक चक्रवाती परिसंचरण के कारण हैं। इसके अलावा, एक पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय के साथ यात्रा कर रहा है और एक टर्फ रेखा चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से देश के पूर्वी हिस्सों तक फैली हुई है।

पूर्वी हवाओं के रूप में बंगाल की खाड़ी से नमी चारा भी मिलता है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों सहित दिल्ली एनसीआर में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। इसके बाद 25 मई से मौसम साफ होना शुरू हो जाएगा। हालांकि, तापमान में उल्लेखनीय वृद्धि नहीं होगी और इसमें धीरे-धीरे वृद्धि होगी और हमें दिल्ली और एनसीआर में कम से कम अगले 3 से 4 दिनों के लिए किसी भी तरह की गर्मी की स्थिति का अनुमान नहीं है।

10 डिग्री सेल्सियस तक गिरे तापमान

तापमान की बात करें तो सुबह पांच से साढ़े छह के बीच न्यूनतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई। जिसमें 10 डिग्री की गिरावट देखी गई। महज एक घंटे में न्यूनतम तापमान 29 डिग्री से गिरकर 19 डिग्री हो गया। सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो न केवल मौसम का सबसे निचला स्तर है बल्कि एक दशक के दौरान न्यूनतम भी है। हालांकि, मई में अब तक का सबसे कम न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस है, जो दो मई 1982 को देखा गया था।

देशभर में यह बना हुआ है मौसमी सिस्टम

मौसम विभाग के मुताबिक इस समय एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी अफगानिस्तान और आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ है। उत्तर पश्चिमी राजस्थान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक टर्फ रेखा उत्तर पश्चिमी राजस्थान पर बने चक्रवाती परिसंचरण से लेकर दक्षिण हरियाणा, दक्षिण उत्तर प्रदेश, दक्षिण बिहार और झारखंड होते हुए गंगीय पश्चिम बंगाल तक फैली हुई है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र ओडिशा के तटीय क्षेत्रों और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश पर बना हुआ है।

Next Story