मौसम की जानकारी

Weather Update : भयंकर बारिश से जूझा देश, इन राज्यों में आज भी मूसलाधार बारिश; जानें आज के मौसम का हाल

Rakesh Gusaiana
14 July 2022 6:51 AM GMT
Weather Update : भयंकर बारिश से जूझा देश, इन राज्यों में आज भी मूसलाधार बारिश; जानें आज के मौसम का हाल
x
Heavy Rainfall Alert: मानसून की बारिश का बोझ मध्य और दक्षिण भारत के कई राज्यों पर बढ़ता ही जा रहा है. गुजरात, महाराष्ट्र से लेकर तेलंगाना और कर्नाटक तक भारी बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. ऐसे में आज कैसा रहेगा मौसम का हाल आइए बताते हैं.

Weather Update 14 July: मानसून की भारी बारिश (Monsoon Rain) अब देश के कई राज्यों के लिए काल बन गई है. मूसलाधार बारिश से करीब आधा देश पानी-पानी है. महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ से लेकर गुजरात तक बाढ़ और बारिश की जो तस्वीरें आ रही हैं वो बेहद भयावह हैं. गुजरात और महाराष्ट्र में आने वाले 24 घंटे एक बार फिर भारी पड़ने वाले हैं.

तेलंगाना में भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए शनिवार तक सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है. तो कर्नाटक में बाढ़ और बारिश में अब तक 32 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. कहीं लोगों के घरों तक पानी पहुंच गया है तो कहीं लोग गाड़ी समेत पानी के तेज़ बहाव में बह जा रहे हैं. ऐसे में आज कैसा रहेगा मौसम का हाल आइए जानते हैं.

बाढ़ और बारिश इन दो शब्दों से पूरा मध्य और दक्षिण भारत जूझ रहा है. खासकर गुजरात और महाराष्ट्र में हालात बदतर हो गए हैं. बारिश से हुए नुकसान के कारण कच्छ, नवसारी और डांग जिलों में तीन राष्ट्रीय राजमार्ग पर गाड़ियों की आवाजाही प्रभावित हुई है. तो वहीं 51 राज्य राजमार्गों और 400 से अधिक पंचायत सड़कें भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं.

गुजरात में भारी बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. अब तक 31 हज़ार से भी ज़्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है. दांग, नवसारी, वलसाड, गिर और सोमनाथ में अगले दो दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है.

महाराष्ट्र में आज भी संभलकर!

गुजरात से सटे महाराष्ट्र में भी भारी बारिश ने कहर ढाया है. एक हफ्ते से भी ज़्यादा बीत चुके हैं लेकिन मुंबई में तो जैसे बारिश का रुकने का नाम ही नहीं ले रही है । रुक रुक कर हो रही बारिश मुंबई के लोगों को हर दिन परेशान कर रही है. मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के पालघर, पुणे, नासिक और सतारा में रेड अलर्ट जारी किया है.

अंबा, सावित्री और उल्हास नदियां के उफान पर होने से ठाणे, नवी मुंबई, रायगढ़ क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है. भारी बारिश के पूर्वानुमान के कारण पालघर, पुणे शहर और पड़ोसी पिंपरी चिंचवड़ क्षेत्र के स्कूल और कॉलेज गुरुवार को बंद रहेंगे.

साथ ही मौसम विभाग ने मुंबई में 55 से 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना जताई है. साथ ही उत्तरी महाराष्ट्र के तटीय इलाकों और उसके आसपास 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना जताई जा रही है. मछुआरों को भी सलाह दी गई है कि वो फिलहाल समंदर में ना जाएं.

दक्षिण भारत में कहर बनकर बारिश

मानसून की ये अंधाधुंध बारिश दक्षिण भारत पर भी कहर बनकर टूट रही है. तेलंगाना का हाल भी बुरा है. यहां के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद नदी और नाले उफान पर हैं. कई इलाकों में पानी भर गया है. श्रीराम सागर डैम से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है.

तो वहीं कर्नाटक में बाढ़ और बारिश अब तक 32 लोगों की जान जा चुकी है और पांच लोग अब भी लापता हैं. अलग अलग इलाकों में NDRF और SDRF की कुल चार टीमें तैनात की गई हैं. जो राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं.

राज्य के मलनाड और तटीय इलाकों में हो रही ज़बरदस्त बारिश के बाद कहीं भूस्खलन तो कहीं मिट्टी धंसने की घटनाएं भी सामने आई हैं. जून के आखिरी हफ्ते से शुरू हुई बारिश का तांडव देश के कई राज्य झेल रहे हैं. और मौसम विभाग अब भी लोगों को बार बार सावधान रहने के लिए अलर्ट जारी कर रहा है.




दिल्ली में होगी बारिश

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कुछ हिस्सों में बुधवार की सुबह हल्की बारिश हुई, लेकिन दिन में तेज उमस के कारण लोगों को परेशानी हुई. राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में बीते तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से पारा नीचे आया है लेकिन नमी बढ़ गई है.

स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन) महेश पलावत ने कहा कि उच्च आर्द्रता और उच्च तापमान संवहनी बादलों का निर्माण करते हैं, जिससे कम बारिश होती है. उन्होंने कहा कि यह हम पिछले दो दिनों से दिल्ली और उत्तर प्रदेश के आसपास के हिस्सों में देख रहे हैं. मौसम विज्ञानी ने कहा कि आज गुरुवार को भी राष्ट्रीय राजधानी में संवहन से बारिश होने की संभावना है.

महाराष्ट्र में भारी बारिश

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में भारी बारिश, लगभग दो हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया. महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में जबरदस्त बारिश के कारण 19 गांवों के लगभग 1,920 लोगों को पिछले तीन दिन में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के नागपुर कार्यालय ने जिले के लिये 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया है. भारी से बहुत तेज बारिश के लिये 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया जाता है.


खतरे के निशान के ऊपर नदियां

आईएमडी ने बताया कि गढ़चिरौली जिले में आज सुबह 8.30 बजे समाप्त हुए पिछले 24 घंटे में 97.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी है. स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि गोदावरी, कलेश्वरम और इंद्रावती नदियां जिले में खतरे के निशान से ऊपर जबकि वैनगंगा, प्राणहिता और वर्धा नदियां खतरे के निशान के आसपास बह रही है.

ओडिशा में आज भी राहत नहीं

ओडिशा में रातभर बारिश होने के कारण गजपति जिले में हुए भूस्खलन से कम से कम 10 घर क्षतिग्रस्त हो गए तथा मलकानगिरी और कालाहांडी जिले में मुख्य सड़कें जलमग्न हो गई. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 48 घंटे में राज्य के नौ जिलों में भारी से बेहद भारी बारिश का अनुमान व्यक्त किया है. मौसम विभाग ने मंगलवार को कहा कि ओडिशा के कई इलाकों में भारी से बेहद भारी बारिश हुई जिससे कई स्थानों पर जलजमाव हो गया है.

कई जगह संपर्क टूटा

मौसम विभाग ने कहा कि सोमवार को कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण इतनी बारिश हुई. मौसम विभाग के वैज्ञानिक यू. एस. दास ने कहा, 'राज्य के दक्षिणी हिस्से के नौ जिलों में भारी से बेहद भारी बारिश का पूर्वानुमान है जिससे पहाड़ी इलाकों में और भूस्खलन हो सकता है, सड़कें तथा खेतों में पानी भर सकता है.

नौ जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.' वहीं गंजाम जिले के नौगड़ा ब्लॉक के नौपाली गांव में हुए भूस्खलन से करीब 10 घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए. आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे मलकानगिरी जिले के मोटू क्षेत्र में भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. सड़कों पर 6 से 8 फुट तक पानी जमा होने से मलकानगिरी से तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ तक का संपर्क बाधित हुआ है. कालाहांडी जिले की मुख्य सड़कों पर भी जलजमाव देखा गया.

राजस्थान का हाल

राजस्थान के अनेक इलाकों में बीते 24 घंटे के दौरान मूसलाधार बारिश हुई. झुंझुनू, बारां, चित्तौड़गढ़, अलवर, झालावाड़ व बांसवाड़ा जिलों में अनेक जगह अच्छी खासी बारिश हुई. मौसम विभाग ने आज भी राजस्थान के कुछ जिलों में भारी बारिश व एक दो स्थानों पर मूसलाधार बारिश का अनुमान लगाया है. खासकर पूर्वी राजस्थान में आज 14 जुलाई को भारी बारिश का अनुमान लगाया गया है.

Next Story